www.poetrytadka.com

khud apni nazro se gir jata

khud apni nazro se gir jata
खुद अपनी ही नज़रो मे गिर जाता हु मैं !
जब मेरी हर गलती पे मुस्कुरा के कहती है कोई बात नही !!