www.poetrytadka.com

Khamooshi shyari

ख़ामोशी मे जीने का लुत्फ़ वही उठा सकता है...!
जो फ़ना हो चूका हो रूहानी इश्क मे...!!