www.poetrytadka.com

khamoosh rahne se dil ki dooriya mita nahi

सिर्फ नजदीकियों से मोहब्बत हुआ नहीं करती !
फैसले जो दिलों में हो तो फिर चाहत हुआ नही करती !
अगर नाराज़ हो खफा हो तो शिकायत करो हमसे !
खामोश रहने से दिलो की दूरिया मिटा नही करती !!