kehne ko zindagi

kehne ko zindagi

कहने को ज़िन्दगी है मगर इसमें ज़िन्दगी वाली बात नही

भीड़ में शामिल हर कोई है, पर कोई किसी के साथ नही

Read More सुप्रभात शायरी
Share via Whatsapp