www.poetrytadka.com

kal tumhe fursat na mile to kya

कल तुम्हे फुरसत ना मिली तो क्या करोगे !
इतनी मोहलत ना मिली तो क्या करोगे !
रोज़ कहते हो कल बात करेंगे !
कल हमारी आँखें ही ना खुली तो क्या करोगे !!