www.poetrytadka.com

kabhi khushi kabhi gham

Last Updated

ज़िन्दगी सिक्के के दो पहलूओं की तरह है 

कभी सुख तो कभी दुःख 

जब सुख हो तो घमंड मत करना 

और जब दुःख हो तो थोडा सबर करना