Kabhi kagaj pe likha tha

कभी काग़ज़ पे लिखा था तेरा नाम अनजाने में !

उससे बेहतर नज़्म, फिर कभी लिख नहीं पाया !!

कृपया शेयर जरूर करें

Read More