www.poetrytadka.com

Kabhi kabhi

प्रेम इंसान को कभी मुरझाने नहीं देता है ,

और नफरत कभी किसी को खिलने नहीं देता है !!

Kabhi kabhi