www.poetrytadka.com

jo puncha hal unka

जो पूँछा हाल उनका तो मूंह छुपा कर रो दिये !
डबडबाई आँखों में दर्दे दिल छुपा कर रो दिये !
एक मुद्दत के बाद पाया था जिन्हें हमने यारो !
हम भी उनके हाल पर सर झुका कर रो दिये !!