www.poetrytadka.com

Intezar Shayari 2 Lines

कभी कभी एक दिन का इंतज़ार 
सालों जैसा लगता है।
Kabhi kabhi kabhi aik din ka  
intezar salon jaisa lagta hai.

एक तरफ है खामोशी, 
एक तरफ इंतज़ार है। 
फिर भी ये मोहब्बत अपने 
आप में ही कमाल है।
Aik taraf hai khamoshi
aik taraf intezar hai.
Fir bhi ye mohabbat apne
aap me he kamall hai.

Intezar Shayari 2 Lines