www.poetrytadka.com

hum to haste hai dusro ko hsane

हम तो हंसते है दुसरो को हंसाने की खातीर !
वरना दिल पर जख्म इतने है कि रोया भी नहीं जाता !!