www.poetrytadka.com

hmara dil kisi gahri

हमारा दिल किसी गहरी जुदाई के भँवर में है !
हमारी आँख भी नम है कभी मिलने चले आओ !!