www.poetrytadka.com

himmat itni thi

हिम्मत इतनी थी समुन्दर भी पार कर सकते थे !
मजबूर इतने हुए कि दो बूँद आँसुओं ने डुबो दिया !!