www.poetrytadka.com

har waqt dube rahte hai

हर वक्त डुबे रहते है तुम्हारे खयालों मे !
पुकारता कोइ और है और आवाज तुम्हारी सुनायी देती है !!