www.poetrytadka.com

Har subah

सुप्रभात - हर सुबह की धुप कुछ याद दिलाती हैं..  हर फूल की खुशबू एक जादू जगाती हैं… चाहू ना…. चाहू कितना भी यार… सुबह सुबह आपकी याद आ ही जाती हैं ..  “

Har subah