www.poetrytadka.com

guzarish hai in hwaao se

guzarish hai in hwaao se
गुजारिश है इन हवाओ से आज जरा तेज बहे !
बात मेरे देश की शान तिरंगे को लहराने कि !!