www.poetrytadka.com

Gumnaam Zindagi

मोहब्बत मिली तो नींद भी न रही दोस्त !
गुमनाम ज़िन्दगी थी तो कितना सकून था !!