www.poetrytadka.com

gazab hai teri yad

गज़ब है तेरी याद का आना भी मेरे दिल में हमदम !
रफ़्ता रफ़्ता तुजमें शामिल मेरी सांसें हो रही हो जैसे !!