www.poetrytadka.com

Facebook shayari sangrah

Last Updated

ना रहेगा निशान, जहां तू कभी मौजूद था

मानो जैसे तेरी ना कोई हस्ती थी, ना ही कोई वजूद था

facebook shayari sangrah