www.poetrytadka.com

ek sainik ne ky khoob kha

एक सैनिक ने क्या खूब कहा है !
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ के आया हूँ !
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ के आया हूँ !
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ !
में अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ के आया हूँ !!