www.poetrytadka.com

Ek din hum sab

एक दिन हम सब दुसरे को यही सोच सोच कर खो देंगे,
की वो मुझे याद नहीं करते तो हम क्यों याद करे.
ek din ham sab dusare ko yahee soch soch kar kho denge,
kee vo mujhe yaad nahin karate to ham kyon yaad kare.

जिसे समय का सदुपयोग करने की कला आ गई,
उसने सफलता के रहस्य को समज लिया है.
jise samay ka sadupayog karane kee kala aa gaee,
usane saphalata ke rahasy ko samaj liya hai.

लगातार हो रही असफलताओं से निराश नहीं होना चाहिए,
कभी कभी गुच्छे की आखरी चाबी ताला खोल देती है.
lagaataar ho rahee asaphalataon se niraash nahin hona chaahie,
kabhee kabhee guchchhe kee aakharee chaabee taala khol detee hai.

आप जीवन में कितने भी ऊँचे उठ जाए पर,
अपनी गरीबी और कठिनाई के दिन कभी मत भूलिए.
aap jeevan mein kitane bhee oonche uth jae par,
apanee gareebee aur kathinaee ke din kabhee mat bhoolie.

संभव और असंभव के बिच की दूरी,
व्यक्ति के निश्चय पर निर्भर करती है.
sambhav aur asambhav ke bich kee dooree,
vyakti ke nishchay par nirbhar karatee hai.

Ek din hum sab
सबसे बेस्ट शायरी Click Here