www.poetrytadka.com

Dimag aur shareer

एक मकान तब तक घर नहीं बन सकता 

जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के 

लिए भोजन और भभक ना हो !!

सबसे बेस्ट शायरी Click Here