www.poetrytadka.com

dil samajh kar

तड़पती देखता हूँ जब कोई चीज !
उठा लेता हूँ अपना दिल समझ कर !!