dil saath mera le jao

तुम जो जा रहे हो दिल साथ मेरा ले जा रहे हो तकूंगी अब मैं राह तुम्हारी
राहत मेरी जो ले जा रहे हो कैसे देखूंगी अब सपना में
नींदें मेरी जो ले जा रहे हो गुजरेंगे दिन अब तन्हा मेरे
यादें इतनी जो दे जा रहे हो तुम जो जा रहे हो दिल साथ मेरा भी ले जा रहे हो
© pallavi gupta

मुख्य पेज पर वापस जाएँ