www.poetrytadka.com

Chahat Shayari dukh wo diye hain

दुःख वो दिए हैं तुमने चाहत का नाम ले कर !

जितनी भी चाहतें थीं तेरे गम में खो गयी हैं !!

Chahat Shayari dukh wo diye hain