www.poetrytadka.com

bhut barbad kiya hai

ऐ ishq तुझे कभी जन्नत नसीब न होगी !
बहुत barbad किया है तूने मासूम लोगो !!