www.poetrytadka.com

Bhool Gaye Hain

भूल गए हैं कुछ लोग इस तरह यकीन मानो यकीन नहीं आता II