www.poetrytadka.com

be rang

ये सोचकर हमने ख़ुद को बेरंग रखा है !
सुना है सादगी ही मोहब्बत की रूह होती है !!