www.poetrytadka.com

apne nahi to apno ka sath kya hoga

अपने नहीं तो अपनों का साथ क्या होगा !
सपनों में हो उनसे मुलाकात तो क्या होगा !
सुबह से शाम तक हमें इंतजार हो जिनका !
वादों में कटे रात तो रात का क्या होगा !!