www.poetrytadka.com

apne gmo ka numaish na kar

अपने गमों की यूँ नुमाइश न कर !
अपने नसीब की यूँ आज़माइश न कर !
जो तेरा है,तेरे दर पर खुद आएगा !
हर रोज़ उसे पाने की ख्वाइश न कर !!