Agar Raton Ko Night Shayari

अगर रातों को जागने से होती गमो में कमी
तो मेरे दामन में खुशियों के अलावा कुछ भी न होता

be sabab na raat ko nikla karo
tum to mere chand ho samjha karo
बे सबब न रात को निकला करो
तुम तो मेरे चाँद हो समझा करो

phir asoon main nahayi hoti hai raat
sayad hamari tarah satayi howi hai raat
फिर असून मैं नहायी होती है रात
शायद हमारी तरह सतायी होइ है रात

kuch to bata aye udaad raat ki thandi huwa
bhulne walo kis tarah uyaad aao main
कुछ तो बता ए उडाड रात की ठंडी हुवा
भूलने वालो किस तरह उयाद आओ मैं

Read More