www.poetrytadka.com

ab wfa ka zikr hoga na wfa ki baat

अब वफा का जीक्र होंगा ना वफा की बात होंगी !
अब मोहब्बत जिस से भी होंगी, मतलब के साथ होंगी !!