www.poetrytadka.com

ab be rang ho gaee hai

अब तो बेरंग हो गयी है मेरी वो ज़िन्दगी भी !
जिसमें कभी तेरी मीठी ओर झुठी बातों ने रंग भर दिए थे !!