www.poetrytadka.com

aashiq tha mere andar

आशिक था मेरे अदंर जो कुछ साल पहले गुज़र गया !
अब तो एक शायर सा है जो अज़ीब-अज़ीब बातें करता है !!