www.poetrytadka.com

aankho se aansoo bankar nikal

aankho se aansoo bankar nikal

कैसे रोकु उनको जो अश्क आखो से ढल जाते है !
ये वो दर्द है जो आखो से आंसु बनकर निकल जाते है !!