www.poetrytadka.com

aankhe meri padlo kabhi

लम्हे जुदाई को बेकरार करते हैं !
हालत मेरे मुझे लाचार करते हैं !
आँखे मेरी पढ़ लो कभी !
हम खुद कैसे कहे की आपसे प्यार करते हैं !!