www.poetrytadka.com

aaaene ke samne

आईने के सामने खड़े होकर खुद से माफी मांग ली मैंने !
अपना ही दिल तो दुखाया है औरों को खुश करने में !!