लाजवाब शायरी


lajawab shyari bhut ameer the hum bhi

bhut ameer the hum bhi

किसी के इश्क का ख्याल थे हम भी 

बड़े दिनों तक बहुत अमीर थे हम भी 

lajawab shyari apna bana lete

apna bana lete

तेरे खुशियों के खातिर हम अपनी जान गवा देते 

काश तुम इतनी बात समझ लेते हमे अपना बना लेते 

lajawab shyari rato ko jagne se

rato ko jagne se

अगर नीद आए तो सो जाया करो यारो

रातो को जागने से बिछड़े लौटा नहीं करते 

lajawab shyari bagawat nahi karta

bagawat nahi karta

मिलना है तो आ जीत ले मैदान में मुझको 

हम अपने काबिले से बगावत नहीं करते 

loading...
lajawab shyari use trasa ayse

use trasa ayse

उसे तरासा ऐसा की हीरा बना दिया 

अब वही कहते है मुझको खरीदने की तेरी अवकात नहीं 

lajawab shyari yaad rakhna

yaad rakhna

ये बात हमेशा याद रखना दुनिया

की मोहब्बत से रब नहीं मिलता 

लेकिन रब की मोहब्बत से दुनिया

भी मिलती है और आखिरत भी 

 

lajawab shyari tere sath rahta hoon

tere sath rahta hoon

अहसास मोहब्बत के लिए इतना ही काफी है 

तेरे बगेर भी मै तेरे साथ रहता हूँ 

shayri lajawab rootha na karo

rootha na karo

हम ना होंगे तो तुम्हे मनाएगा कोन 

यु बात बात पर रूठा ना करो 

shayri lajawab mere mkaan ki

mere mkaan ki

दीवार क्या गेरी मेरे कच्चे मकान की 

लोगो ने मेरे घर से रास्ते बना लिए 

dil ka dard

दिल के दर्द को छुपाना कितना मुश्किल 

टूट कर मुश्कुराना कितना मुश्किल 

किसी के साथ दूर तक जाकर तो देखो 

अकेले लौट कर आना कितना मुश्किल 

loading...