www.poetrytadka.com

Zindagi ko apne badalte chale gae

वह जिंदगी को अपनी बदलते चले गए !
नित्य नए रास्तों पर उलझते चले गए !
साथ लेने का किसी को वक्त आया तो
अपने और परायों को समझते चले गए !!