www.poetrytadka.com

Zara si fursat

Last Updated

ज़रा सी फुर्सत निकाल कर हमारा क़त्ल ही कर दो

यूँ तेरे इन्तजार में तड़प-तड़प के मरना हमसे नहीं होता.

zara si fursat