www.poetrytadka.com

whi mujhko akele

वही मुझको अकेला कर गयी, 

जो कभी दुआओ में मांगती थी