www.poetrytadka.com

tumhe bulati hai

सिर्फ़ आवाज़ और लफ़्ज ही नहीं !
मेरी ख़ामोशी भी तुम्हे बुलाती है !!