shayari website

itni udasi kyu

itni udasi kyu

इतनी उदासी क्यों जब नसा- ए- शाम आपके पास है
इतनी मुस्कराहट क्यों जब दिल्लगी की बात है
जो दूर जाता है उसकी भी कोई मजबूरी होगी
केवल आपकी ही नही उसकी भी मोहब्बत अधूरी होगी

Share via Whatsapp
www shyari com

raftar pe na itra

ए ज़िंदगी तू अपनी रफ़्तार पे ना इतरा,
अगर मैने रोक ली साँसें तो,
तू भी चल नही पाएगी

Share via Whatsapp
shayari in.com

azab tmasha hai

अजब तमाशे है दुनिया में यारों
कोड़ीयों में इज्जत
और करोड़ों में कपड़े बिकते हैं

Share via Whatsapp
dil se rishta www.shayari.in

dil se rishta tod diya

कल रात मैने अपने दिल से भी रिश्ता तोड़ दिया,
पागल तेरे को भूल जाने की सलाह दे रहा था

Share via Whatsapp
www.shayari.in

humko khamoosh rahne do

हमको खामोश ही रेहने दो यही बेहतर है
लब जो हिलेँगे तो उतर जायेंगे चेहरे कितने

Share via Whatsapp
shayari websaite chupe

chupe chupe se rahte ho

छुपे छुपे से रहते हैं,
सरेआम नहीं हुआ करते,
कुछ रिश्ते बस एहसास होते हैं,
उनके नाम नहीं हुआ करते

Share via Whatsapp

waqt waqt ki mohabbat

वक़्त वक़्त की मोहब्बत है, वक़्त वक़्त की रूसवाईयाँ
कभी पंखे सगे हो जाते हैं, तो कभी कभी रजाईयाँ

Share via Whatsapp

dhoka de raha hai

कभी-कभी हमें पता होता है
कि सामने वाला हमें "धोखा" दे रहा है
फिर भी "हम" कुछ नही कहते,
क्योंकि हम जानते हैं कि हम उनके "धोखे" के साथ तो जी सकते हैं, लेकिन उनके "बगैर" नहीं

Share via Whatsapp

tash ke patto se

ताश के पत्तों से महल नहीं बनता,
नदी को रोकने से समंदर नहीं बनता,
बढ़ाते रहो जिंदगी में हर पल,
क्यूंकि एक जीत से कोई सिकंदर नहीं बनता

Share via Whatsapp

hoslo ki udan

मंजिले उन्ही को मिलती है
जिनके सपनो में जान होती है
पंखो से कुछ नहीं होता
होसलो से उडान होती है

Share via Whatsapp