www.poetrytadka.com

Whatsapp DP

Dil pe le

dil pe le

मैं तो सिर्फ दील से लीखता हुं, पर लोग न जाने क्युं. दील पे ले लेते हैं !!

Tu meri ho

tu meri ho

ख्वाहिश ये कि तू मेरी हो, या फिर ये ख्वाहिश तेरी हो !!

Tu itna kar

tu itna kar

तू इतना प्यार कर जितना तू सह सके बिछड़ना भी पड़े तो ज़िंदा रह सके !!

Ishq ka dhandha

ishq ka dhandha

इश्क का धंधा ही बंघ कर दिया साहेब मुनाफे में जेब जले और घाटे में दिल !!

Andaz e chehra

andaz e chehra

गलत नहीं होता अंदाज -ए - चेहरा क्युकी कुछ लोग जैसे दीखते है वैसे ही होते है !!

सबसे बेस्ट शायरी Click Here