www.poetrytadka.com

Thought in Hindi

Kuch bhi kaho

कुछ भी कहो

 

चेहरे देखकर मोहब्बत की शुरुवात आज भी नहीं बदली

Category : Thought in Hindi

Insaniyat dil me hoti hai

 

इंसानियत दिल में होती है
हैसियत में नहीं
ऊपर वाला कर्म देखता है
वसीयत नहीं !!

Category : Thought in Hindi

Hindi quote on waqt

 

अपनी तकदीर में तो कुछ ऐसे ही सिलसिले लिखे हैं;
किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया;
तो किसी ने अपना बनाकर 'वक़्त' गुजार लिया!

Category : Thought in Hindi

Thought in Hindi 2022.

Logon Ko Utni He Ahmiyat Do

लोगों को उतनी ही अहमियत दो, जितना वो तुम्हें देते हैं। काम दोगे तो मगरूर कहलाओगे और ज़यादा दोगे तो गिर जाओगे।

Category : Thought in Hindi

Dost ho ya parinda

दोस्त हो या परिंदा दोनों को आजाद छोड़ दो, लौट आया तुम्हारा और न आया तो तुम्हारा कभी था हे नहीं।

Category : Thought in Hindi