www.poetrytadka.com

सुविचार संग्रह hindi

सुविचार संग्रह hindi | विचार संग्रह | suvichar sangrah

bharosha

रिश्ता बहुत गहरा हो या ना हो 

भरोषा गहरा होना चाहिए 

bharosha--suvichar-sangrah-hindi

kisi ko bekaar na samajhna

ज़िन्दगी में कभी किसी को बेकार मत समझना 

क्युकी बंद घड़ी भी दिन में दो बार सही समय बताती है 

kisi-ko-bekaar-na-samajhna

ladkiyo ki izzat

दुसरो की घर की लड़की की इज्ज़त वही करता है 

जो अपने घर की लड़की की इज्ज़त करता है 

ladkiyo-ki-izzat-suvicha-sungrah

khush ho ke kaam karo

ख़ुशी के लिए काम करोगे तो ख़ुशी नहीं मिलेगी 

खुश रहकर काम करोगे तो ख़ुशी और सफलता दोनों मिलेगी 

khush-ho-ke-kaam-karo-suvichar-sungarh-hindi

ghabrana mat

ज़िन्दगी में कुछ गलत हो जाए तो घबराना मत क्युकी 

ढूध फटने से वही घबराते है जिन्हें पनीर बनाना नहीं आता 

ghabrana-mat-suvichar-sungrah-hindi

acha kaam karte raho

अच्छा काम करते रहो कोई सम्मान करे या ना करे 

सूर्य यदय तब भी होता है जब करोड़ो लोग सोये रहते है 

acha-kaam-karte-raho-suvichar-sungrah-hindi

nazar ka apresan

नजर का आँपरेशन तो सम्भव है 

लेकिन नजरिया का नहीं 

suvichar-sangrah-hindi-nazar-ka-apresan

khash dosti

दोस्ती कभी खाश लोगो से नहीं होती 

जिससे हो जाती है वही खाश हो जाते है

suvichar-sangrah-khash-dosti

haar jana

जीत की आदत अच्छी है मगर 

कुछ रिश्तो में हार जाना बेहतर है 

suvichar-sangrah-hindi-haar-jana

sam tak baitha rha

दोपहर तक बिक गया बाजार में हर एक झूठ 

और मै सच बोल कर साम तक बैठा रहा 

suvichar-sangrah-hindi-sam-tak-baitha-raha