www.poetrytadka.com

Suprabhat Shayari

Last Updated

chalo accha huaa

chalo accha huaa

चलो अच्छा हुआ भ्रम टूट गया मेरा..

बहुत उम्मीदें लगा ली थी मैंने मोहब्बत से उनकी

bahut haseen

bahut haseen

बहुत हसीन सही सोहबतें गुलों की मगर,

वो ज़िंदगी है जो काँटों के दरमियाँ गुज़रे।

man ka koi kona

man ka koi kona

मन का कोई कोना अन्धेरे में ना रहे

एक चिराग़ भीतर भी जलाओ यारों

Mubarak ho aapko

Mubarak ho aapko

सुप्रभात शायरी
नयी सी सुबह, नया सा सवेरा … सूरज की किरणों मैं हवाओ का बसेरा .. खुले आसमान मैं सूरज का चेहरा …. मुबारक हो आपको ये हसीं सवेरा “सुप्रभात

Paigam shayari

Paigam shayari

सुप्रभात शायरी
फूलों ने अमृत का जाम भेजा हैं… सूरज ने गगन से सलाम भेजा हैं… मुबारक हो आपको नयी सुबह ….. तहे दिल से हमने ये पैगाम भेजा हैं … “सुप्रभात Paigam shayari