www.poetrytadka.com

Shero Shayari

Rango ke bina zindagi me rang kya hoga

रंगों के बिना जिंदगी में रंग क्या होगा !
तुम नहीं तो जिंदगी का ढंग क्या होगा !
तुम्हारे बिना कटता नहीं इक पल हमारा !
तन्हाईयों से भरी रात का संग क्या होगा !!

Apne nahi to apno ka sath kya hoga

अपने नहीं तो अपनों का साथ क्या होगा !
सपनों में हो उनसे मुलाकात तो क्या होगा !
सुबह से शाम तक हमें इंतजार हो जिनका !
वादों में कटे रात तो रात का क्या होगा !!

Ek pal

कभी काली सियाह रातें हमें एक पल की लगती है !
कभी एक पल बिताने मे जमाने बीत जाते है !!

Zmana beet jata hai

कभी नजरे मिलानेे मे जमाना बीत जाता है !
कभी नजरे चुराने मे जमाना बीत जाता है !!

Sam ke baad

sam ke baad

तु है सुरज तुझे मालुम कहां रात का दुख !
तु किसी रोज मेरे घर मे उतर शाम के बाद !!