www.poetrytadka.com



shayari sangrah

itne bewfa nahi

itne bewfa nahi

इतने बेवफा नहीं की हम तुम्हे भूल जाए 

अक्सर चुप रहने वाले प्यार बहुत करते है 

hamari zindagi

hamari zindagi

हमारी ज़िन्दगी में भी आया था कोई वफा करने 

बस थोड़ी जल्दी में था चला गया 

kise maloom tha

kise maloom tha

किसे मालूम था इश्क इस कदर लाचार करता है 

दिल जानता है वो बेवफा है फिर भी उसी से प्यार करता है

sath agar doge

साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएंगे ज़रूर;

प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे ज़रूर;

कितने भी काँटे क्यों ना हों राहों में;

आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएंगे ज़रूर

dil ki baat dil me chupa lete

दिल की बात दिल में छुपा लेते हैं वो, 

हमको देख कर मुस्कुरा देते हैं वो, 

हमसे तो सब पूछ लेते हैं, 

पर हमारी ही बात हमसे छुपा लेते हैं वो