www.poetrytadka.com



Shayari 2019

chen se rahne naa diya

chen se rahne naa diya

दिल की चोटों ने कभी चैन से रहने न दिया

जब चली सर्द हवा मैंने तुझे याद किया

Yadi aap mere pas aakar

Yadi aap mere pas aakar
Yadi aap mere pas aakar

koi bada nahi hota

koi bada nahi hota

छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता 

टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता 

aao fir se diya jalaye

aao fir se diya jalaye

सूरज परछाई से हारा अंतरतम का नेह निचोड़ें-

बुझी हुई बाती सुलगाएँ। आओ फिर से दिया जलाएं

darindo ke shahar me

darindo ke shahar me

मेरी तिजारत में रुकावट है मेरा इंसान होना.

दरिंदों के शहर में लाज़िम है परेशान होना